Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 80694
Date of publication : 15/8/2015 0:39
Hit : 334

भारत यात्रा का मुख्य उद्देश्य, आपसी संबंधों में विस्तार

इस्लामी रिवाल्यूशन ईरान के विदेशमंत्री ने ईरान व भारत के बीच संबंध विस्तार को अपनी दिल्ली यात्रा का मुख्य उद्देश्य बताया है।


विलायत पोर्टलः इस्लामी रिवाल्यूशन ईरान के विदेशमंत्री ने ईरान व भारत के बीच संबंध विस्तार को अपनी दिल्ली यात्रा का मुख्य उद्देश्य बताया है। विदेशमंत्री ने कहा कि परमाणु सहमति के बाद दोनों देशों के बीच संबंध विस्तार का सही मौक़ा पैदा हो गया है। विदेशमंत्री मुहम्मद जवाद ज़रीफ़ ने गुरुवार की रात नई दिल्ली के इंदिरा गांधी हवाई अड्डे पर पत्रकारों से बात-चीत करते हुए कहा कि ईरान भारत के साथ बहुत अच्छे संबंध रखता है और बहुत से मुद्दों में दोनों देशों के दृष्टिकोण एक हैं। विदेशमंत्री ने कहा कि दिल्ली यात्रा के दौरान, चरमपंथ व हिंसा से मुक़ाबले जैसी क्षेत्रीय चुनौतियों और आपसी सहयोग पर चर्चा होगी। उन्होंने बताया कि इस यात्रा में मुख्य बिन्दु, नई परिस्थतियों में परस्पर सहयोग में वृद्धि है। इस्लामी रिपब्लिक ईरान के विदेशमंत्री ने, परमाणु समझौते के बाद अपनी दूसरी क्षेत्रीय यात्रा लेबनान से शुरू की और सीरिया व पाकिस्तान होते हुए गुरुवार की रात नई दिल्ली पहुंचे हैं। इस यात्रा के दौरान ईरानी विदेशमंत्री, भारत के प्रधानमंत्री, विदेशमंत्री और उप राष्ट्रपति सहित वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाक़ात की। ज्ञात रहे जवाद ज़रीफ, विदेशमंत्री के रूप में दूसरी बार भारत गए हैं।
................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

हश्दुश शअबी का आरोप , आईएसआईएस को इराकी बलों की गोपनीय जानकारी पहुंचाता था अमेरिका ईरान के पयाम सैटेलाइट ने इस्राईल और अमेरिका को नई चिंता में डाला सीरिया की स्थिरता और सुरक्षा, इराक की सुरक्षा का हिस्सा : बग़दाद आले सऊद की नई करतूत , सऊदी अरब में खुले नाइट कलब और कैसीनो । अमेरिका ने सीरिया से भाग कर ईरान, रूस और बश्शार असद को शक्तिशाली किया । ज़ुबान के इस्तेमाल के फ़ायदे और नुक़सान । सीरिया के विभाजन की साज़िश नाकाम, अमेरिका ने कुर्दों को दिया धोखा । सीरिया में अमेरिका का स्थान लेंगी मिस्र और संयुक्त अरब अमीरात की सेना । बैतुल मुक़द्दस से उठने वाली अज़ान की आवाज़ पर लगेगी पाबंदी । दमिश्क़ की ओर पलट रहे हैं अरब देश, इस्राईल हारा हुआ जुआरी : ज़ायोनी टीवी शहीद बाक़िर अल निम्र, वह शेर मर्द जिसका नाम सुनकर आज भी लरज़ जाते हैं आले सऊद बश्शार असद की हत्या ज़ायोनी चीफ ऑफ स्टाफ की पहली प्राथमिकता ? यमन के सक़तरी द्वीप पर संयुक्त अरब अमीरात की नज़र क़तर के पूर्व नेता का सवाल, सऊदी अरब में कोई बुद्धिमान है जो सोच विचार कर सके ? अंसारुल्लाह का आरोप , यमन के लिए दूषित भोजन खरीद रहा है डब्ल्यू.एच.पी