Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 80568
Date of publication : 11/8/2015 23:26
Hit : 185

जापान में परमाणु ऊर्जा कार्यक्रम दोबारा हुआ शुरू

जापान ने 2011 में फ़ुकुशिमा दायची परमाणु संयंत्र में हुई दुर्घटना के बाद परमाणु उर्जा से बिजली बनाने का काम फिर से ऐसी हालत में शुरू किया है, जब इसके विरोधी कड़ी आलोचना कर रहे हैं।


विलायत पोर्टलः जापान ने 2011 में फ़ुकुशिमा दायची परमाणु संयंत्र में हुई दुर्घटना के बाद परमाणु उर्जा से बिजली बनाने का काम फिर से ऐसी हालत में शुरू किया है, जब इसके विरोधी कड़ी आलोचना कर रहे हैं। मंगलवार को क्युशु इलेक्ट्रिक पावर कंपनी ने कहा है कि उसने दक्षिणी जापान में स्थित सात्सूमासेंदाई शहर में स्थित संयंत्र के रिएक्टर नंबर एक को पुनः शुरू कर दिया है। व्यापक विरोध के बावजूद जापान भर में बिजली कंपनियों ने 25 रिएक्टरों को फिर से शुरू करने की मांग की है। हालांकि जापान सरकार जनता को यह आश्वासन दिलाने की भरपूर कोशिश कर रही है कि नए सुरक्षा नियमों के दृष्टिगत परमाणु उद्योग अब पूरी तरह से सुरक्षित है। क्युशु कंपनी ने नए सुरक्षा उपकरण लगाने पर 12 करोड़ डॉलर खर्च किए हैं। क्युशु कंपनी ने टोक्यो से लगभग 1 हज़ार किलोमीटर की दूरी पर स्थित सेंदाई संयंत्र के रिएक्टर नंबर एक को मंगलवार को दोबारा शुरू कर दिया। इस रिएक्टर में शुक्रवार से परमाणु बिजली बनना शुरू हो जाएगी। जापान के प्रधानमंत्री शिंज़ो आबे ने सोमवार को कहा कि सरकार रिएक्टरों को फिर से शुरू करना चाहती है लेकिन तभी, जब वे दुनिया के सबसे मुश्किल सुरक्षा मानकों पर पूरा उतरेंगे। फ़ुकुशिमा में 11 मार्च 2011 को भूकंप और सुनामी के कारण दायची प्लांट को बहुत नुक़सान हुआ और इसके अगले दिन वहां से रेडियोधर्मी पदार्थों का रिसाव होने लगा था।
................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

हश्दुश शअबी का आरोप , आईएसआईएस को इराकी बलों की गोपनीय जानकारी पहुंचाता था अमेरिका ईरान के पयाम सैटेलाइट ने इस्राईल और अमेरिका को नई चिंता में डाला सीरिया की स्थिरता और सुरक्षा, इराक की सुरक्षा का हिस्सा : बग़दाद आले सऊद की नई करतूत , सऊदी अरब में खुले नाइट कलब और कैसीनो । अमेरिका ने सीरिया से भाग कर ईरान, रूस और बश्शार असद को शक्तिशाली किया । ज़ुबान के इस्तेमाल के फ़ायदे और नुक़सान । सीरिया के विभाजन की साज़िश नाकाम, अमेरिका ने कुर्दों को दिया धोखा । सीरिया में अमेरिका का स्थान लेंगी मिस्र और संयुक्त अरब अमीरात की सेना । बैतुल मुक़द्दस से उठने वाली अज़ान की आवाज़ पर लगेगी पाबंदी । दमिश्क़ की ओर पलट रहे हैं अरब देश, इस्राईल हारा हुआ जुआरी : ज़ायोनी टीवी शहीद बाक़िर अल निम्र, वह शेर मर्द जिसका नाम सुनकर आज भी लरज़ जाते हैं आले सऊद बश्शार असद की हत्या ज़ायोनी चीफ ऑफ स्टाफ की पहली प्राथमिकता ? यमन के सक़तरी द्वीप पर संयुक्त अरब अमीरात की नज़र क़तर के पूर्व नेता का सवाल, सऊदी अरब में कोई बुद्धिमान है जो सोच विचार कर सके ? अंसारुल्लाह का आरोप , यमन के लिए दूषित भोजन खरीद रहा है डब्ल्यू.एच.पी