Tuesday - 2018 Sep 25
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 188206
Date of publication : 5/7/2017 17:11
Hit : 234

गरीबी के बजाए ग़रीबों से युद्ध कर रहा है अमेरिका : टाइम

अगर न्यूयॉर्क में ही रह रहे ग़रीबों को एक जगह जमा कर दिया जाये तो यह विश्व का ५ गरीब शहर बन जायेगा । ब्रोंक्स में ही हर ५ बच्चों में से २ ग़रीबी रेखा से नीचे हैं ।


विलायत पोर्टल :
  अमेरिका की प्रतिष्ठित टाइम मैगज़ीन ने वेसमूर द्वारा लिखित एक लेख प्रकाशित किया है । इस में कहा गया है कि मै मैरीलैंड के सबसे बड़े शहर बाल्टिमोर में पैदा हुआ और ब्रोंक्स से लेकर न्यूयार्क तक ग़रीबी का मज़ा चखते हुए बड़ा हुआ । मुझे याद है कि हमे अँधेरा फैलने से पहले ही घर पलट जाना पड़ता था ताकि यहाँ की खतरनाक सड़कों पर होने वाली घटनाओं से सुरक्षित रहूं हम ऐसे समाज में रहे जहाँ किसी को एक दूसरे की कोई खबर नहीं थी लगता था जैसे किसी घेराबंदी और क़ैद मै रह रहे हों । गरीबी एक भयानक दुविधा, एक स्थिति है जिस से आपका घर, स्कूल, काम तथा पूरा जीवन प्रभावित होता है। आधी सदी से अधिक बीत गयी जब अमेरिका के ३६ वें राष्ट्रपति ने ग़रीबी के विरुद्ध बिना किसी शर्त के युद्ध छेड़ने का आह्वान किया था ताकि देश से गरीबी को मिटाया जा सके । अगर आज अमेरिका अफगानिस्तान और अन्य जगहों पर युद्ध की आग भड़काने के बजाए देश में गरीबी के खिलाफ युद्ध छेड़ता तो हम आराम से जीवन व्यतीत कर रहे होते । खेद की बात तो यह है की जो युद्ध ग़रीबी के विरुद्ध छेड़ना था आज उस युद्ध की आग गरीबों को झुलसा रही है । अमेरिका हमेशा की तरह बेशर्मी से लोगो को ग़रीब रखने की सियासी चाले चल रहा है। वर्तमान अमेरिकी सरकार की गलत नीतियों के कारन ग़रीबी का शिकार ४५ मिलियन अमेरिकी नागरिक एक अभूतपूर्व संकट का सामना कर रहे हैं । अगर न्यूयॉर्क में ही रह रहे ग़रीबों को एक जगह जमा कर दिया जाये तो यह विश्व का ५ गरीब शहर बन जायेगा । ब्रोंक्स में ही हर ५ बच्चों में से २ ग़रीबी रेखा से नीचे हैं । ग़रीबी ख़त्म करने का मतलब यह है कि कोई परिवार भूखा न रहे, सब को शिक्षा और प्राथमिक सुविधा मिले । हर युद्ध में जीत के इरादे से उतरने वाला अमेरिका ग़रीबी के विरुद्ध भी इस उद्देश्य से युद्ध छेड़े ।
 .........
YJC


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :