Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 186246
Date of publication : 16/3/2017 20:42
Hit : 264

सीरिया में आतंकियों द्वारा मचाई गयी तबाही की रोंगटे खड़ी कर देने वाली दुखद रिपोर्ट ।

६३ लाख से अधिक लोग ऐसे स्थानों पर जीवन यापन कर रहे हैं जो विस्फोट संभावित क्षेत्र हैं अर्थात जगह जगह आतंकियों द्वारा बिछाये गए विस्फोटक पदार्थ मौजूद हैं । २९ लाख से अधिक बच्चे ५ वर्ष से कम आयु के हैं जिन्होंने शांति नाम की चीज़ ही नहीं देखी ।


विलायत पोर्टल :
सीरिया के अदालत भवन में हुए दो हमलों में मरने वालों की संख्या को लेकर अभी तक कोई आधिकारिक रिपोर्ट नहीं आयी है लेकिन अस्पताल के सूत्रों के अनुसार इन हमलों में ३२ व्यक्तियों की मौत तथा २० से अधिक घायल हुए हैं । सीरिया संकट के ६ वर्ष पूर्ण होने पर संयुक्त राष्ट्र के रिफ्यूजी हाई कमिश्नर ने आतंकवाद से जूझ रहे सीरिया की पीड़ाओं को जाहिर करने वाली एक रिपोर्ट प्रकाशित की है जिसके अनुसार यहाँ की ८५% से अधिक आबादी गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रही है । ५० लाख से अधिक लोग बेघर हो गए हैं तथा १ करोड़ १० लाख से अधिक लोग अपना घर परिवार छोड़ने पर मजबूर हो गए हैं । पिछले ६ वर्षों में सीरिया के सकल घरेलू उत्पाद को २५९ अरब डॉलर का घाटा हुआ है। ज्ञात रहे कि मार्च २०११ में समानाधिकार तथा सम्मान की मांग को लेकर सीरिया में विरोध प्रदर्शन शुरू हुआ जो विदेशी हस्तक्षेप के कारण ३२० हज़ार मौत और १ लाख से अधिक घायलों में बदल गया लाखों लोग बेघर हो गए लेकिन गैर सरकारी संस्थाओं के अनुसार मरने वाला का आंकड़ा कहीं ज़्यादा है जो कम से कम ४५६ हज़ार हैं । सीरिया संकट समय के साथ एक ब्लैक होल में बदल गया जब आतंकवाद समर्थक ताक़तों ने असद प्रशासन के विरुद्ध दुनिया भर से आतंकियों को जमा करना शुरू कर दिया जिसके नतीजे में हज़ारो लोग मारे गए और लाखों नागरिक बेघर हो गए । संयुक्त राष्ट्र के रिफ्यूजी हाई कमिश्नर की रिपोर्ट के अनुसार सीरिया संकट के ६ वर्ष में ४९५८७३७ लोगों का शरणार्थियों के रूप में पंजीकरण हुआ है । शरणार्थी बच्चों में हर ५ में से ४ ने अपने किसी सम्बन्धी को इस संकट में खो दिया है । अप्रैल २०११ से अब तक १२ लाख से अधिक सीरियन नागरिक शरण के लिए दरखास्त दे चुके हैं। १९ हज़ार से कम लोगों को यूरोप ने नागरिकता प्रदान की है अर्थात हर २५० में से बस एक शरणार्थी को यूरोप की नागरिकता मिल पाई है । ९०% शरणार्थी मिडिल ईस्ट में स्थित रिफ्यूजी कैम्पों से बाहर ही जीवन यापन को मजबूर हैं। सीरिया में ही रह रहे ३.५ मिलियन से अधिक लोग प्राथमिक सुविधाओं से भी वंचित हैं । सीरिया मे रह रहे शरणार्थियों की संख्या ६३ लाख से भी अधिक हो गयी है । देश के ८५% से भी अधिक लोग गरीबी रेखा से नीचे जीवन गुज़ार रहे हैं । २८ लाख से अधिक सीरियन नागरिक पूर्णरूप से अपाहिज हो चुके हैं । ६३ लाख से अधिक लोग ऐसे स्थानों पर जीवन यापन कर रहे हैं जो विस्फोट संभावित क्षेत्र हैं अर्थात जगह जगह आतंकियों द्वारा बिछाये गए विस्फोटक पदार्थ मौजूद हैं । २९ लाख से अधिक बच्चे ५ वर्ष से कम आयु के हैं जिन्होंने शांति नाम की चीज़ ही नहीं देखी । रिफ्यूजी हाई कमिश्नर ने सीरिया के जिन क्षेत्रों का दौरा किया उसके ९०% भाग में बाल सैनिकों की भरमार थी । ३० लाख से अधिक सीरियन शिक्षा से वंचित हैं । १ करोड़ २ लाख ८ हज़ार से अधिक लोगों को तुरन्त चिकित्सीय सहायता की आश्यकता है । ७० लाख लोग खाद्य असुरक्षा से पीड़ित है अर्थात दूषित खाना खाने को मजबूर हैं । परिवार की कुल आय का २५% पीने का पानी खरीदने में खर्च हो रहा है । पिछले ६ वर्षों में सीरिया के सकल घरेलू उत्पाद को २५९ अरब डॉलर का घाटा हुआ है ।
 ........................
 अल आलम टीवी


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

हश्दुश शअबी का आरोप , आईएसआईएस को इराकी बलों की गोपनीय जानकारी पहुंचाता था अमेरिका ईरान के पयाम सैटेलाइट ने इस्राईल और अमेरिका को नई चिंता में डाला सीरिया की स्थिरता और सुरक्षा, इराक की सुरक्षा का हिस्सा : बग़दाद आले सऊद की नई करतूत , सऊदी अरब में खुले नाइट कलब और कैसीनो । अमेरिका ने सीरिया से भाग कर ईरान, रूस और बश्शार असद को शक्तिशाली किया । ज़ुबान के इस्तेमाल के फ़ायदे और नुक़सान । सीरिया के विभाजन की साज़िश नाकाम, अमेरिका ने कुर्दों को दिया धोखा । सीरिया में अमेरिका का स्थान लेंगी मिस्र और संयुक्त अरब अमीरात की सेना । बैतुल मुक़द्दस से उठने वाली अज़ान की आवाज़ पर लगेगी पाबंदी । दमिश्क़ की ओर पलट रहे हैं अरब देश, इस्राईल हारा हुआ जुआरी : ज़ायोनी टीवी शहीद बाक़िर अल निम्र, वह शेर मर्द जिसका नाम सुनकर आज भी लरज़ जाते हैं आले सऊद बश्शार असद की हत्या ज़ायोनी चीफ ऑफ स्टाफ की पहली प्राथमिकता ? यमन के सक़तरी द्वीप पर संयुक्त अरब अमीरात की नज़र क़तर के पूर्व नेता का सवाल, सऊदी अरब में कोई बुद्धिमान है जो सोच विचार कर सके ? अंसारुल्लाह का आरोप , यमन के लिए दूषित भोजन खरीद रहा है डब्ल्यू.एच.पी