Wed - 2018 April 25
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 186125
Date of publication : 9/3/2017 18:29
Hit : 264

नमाज़ के शारीरिक लाभ से पर्दा उठाती एक ताज़ा रिसर्च।

नमाज़ मस्तिष्क संबंधी विकार, जोड़ों एवं पुट्ठों के रोग का बेहतरीन उपचार हो सकती है ।


विलायत पोर्टल : इस रिसर्च में कहा गया है कि नमाज़ शरीरिक तनाव को ही कम नहीं करती बल्कि रुकू ओर सजदे के वक्त पीठ और घुटने का नमाज़ के लिए बताई गयी सही मात्रा में झुकाना एक बेहतरीन चिकित्सीय उपचार है। इंडिपेंडेंट की रिपोर्ट के अनुसार दुनिया भर में १.६ बिलियन मुस्लमान पांच वक़्त नमाज़ पढ़ते है।
एक शोधकर्ता के अनुसार नमाज़ के पोज़ीशन कमर दर्द की फिज़ियोथेरेपी एवं योग के कुछ आसनों से मिलती जुलती है। इस एर्गोनॉमिक रिपोर्ट में कमर दर्द से पीड़ित अलग अलग लोगों पर नमाज़ के प्रभाव पर शोध किया गया है। शोध के अनुसार सजदा इंसान के जोड़ों में लचक पैदा करने में सहायक है। शोध कर्ताओं के अनुसार अच्छे स्वास्थ्य और तनाव रहित जीवन का धर्म से नजदीकी सम्बन्ध है उनके अनुसार नमाज़ मस्तिष्क संबंधी विकार, जोड़ों एवं पुट्ठों के रोग का बेहतरीन उपचार हो सकती है ।

................
 प्रेस टीवी


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :